Spread the love

Advertisement
Advertisement

 क्या अखबार को हाथ लगाने से कोरोना फ़ैल जाएगा ?

दोस्तों आजकल पूरी दुनिया में Corona Virusफैल रहा है और इसलिए इसके साथ ही बहुत सारी अफवाहें भी लोग फैला रहे हैं। कुछ लोग बोल रहे हैं कि अखबार पढ़ने या अखबार को हाथ लगाने से भी Corona Virus से संक्रमित हो सकते हैं।
तो इस समय सबसे बड़ी बात यही है कि हमें यह बात को जानने चाहिए कि इस समय हम किस चीज को हाथ लगा सकते हैं और किस चीज को नहीं। क्या Online Deliver किया गया पैकेट को छूना भी सही है ? क्या ऑनलाइन डिलीवर किए गए एक ग्रॉसरी और खाने-पीने के पैकेट को भी हम हाथ लगा सकते हैं ? क्या अखबार को छूने से भी हम कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं?
हम यहां आपको यह बताना चाहते हैं कि जीवित कोशिकाओं के बाहर ज्यादातर जगहों पर Corona Virus बहुत देर तक जिंदा रहता है।
इसलिए एक्सपोर्ट्स यह मानते हैं कि जब आप अखबार को हाथ लगाते हैं या उस को छूते हैं तो संक्रमण फैलने की संभावना ना के बराबर होती है। 
बहुत सारे चिकित्सक भी यह मानते हैं कि अखबार को छूने से संक्रमण फैलने की संभावना बहुत ही कम होती है और यह हम कह सकते हैं कि यह बिल्कुल ना के बराबर है। दोस्तों हम यहां पर आपको यह भी बता दें कि आज के समय में बहुत सारे अखबार बहुत ही उच्च तकनीक के साथ प्रकाशित होते हैं इसमें आदमियों का हाथ लगाना लगभग ना के बराबर होता है इसके अलावा आजकल के अखबारों में आपकी सुरक्षा के लिए और भी बहुत सारी बातों का ध्यान रखा जाता है। इसके अलावा भी अगर आपके मन में थोड़ा दम है तो आप अखबार पढ़ने के बाद अपने हाथों को सैनिटाइज कर सकते हैं या फिर उनको साबुन से धो सकते हैं।

क्या दूध का पैकेट संक्रमण फैला सकता है ?

 दोस्तों डब्ल्यूएचओ के अनुसार इस बात की संभावना भी बहुत ही ज्यादा कम है कि एक संक्रमित व्यक्ति अगर किसी दूध के पैकेट को छूता है तो उसके हाथ से जुड़ा हुआ पैकेट पीस संक्रमण निरस्त हो जाएगा इसकी संभावना भी बहुत कम है क्योंकि यह पैकेट कई माध्यमों से और कई तरह के तापमान से गुजरता हुआ आपके घर तक पहुंचता है इसलिए दूध की थैली और अखबार से संक्रमण फैलने की संभावना बिल्कुल ना के बराबर हो जाती है। लेकिन देश में जैसे हालात हैं और जिस तरह से की महामारी फैल रही है खुद को बचा कर रखना सबसे ज्यादा जरूरी है इसलिए अगर आप अखबार या दूध के पैकेट को हाथ लगा कर उसके बाद हाथ धो लें तो अच्छा रहेगा. डब्ल्यूएचओ ने भी लोगों को मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने की सलाह दी है।

Advertisement

Spread the love